MS ACCESS का परिचय

M.S. Access एक रिलेशनल डाटाबेस मैनेजमेन्‍ट सिस्‍टम (RDBMS) है।  Access जानकारी/सूचना को स्‍टोर करता है। डाटा को Category के अनुसार अलग-अलग स्थानो पर स्टोर करके उनके बीच आपस में संबंध स्थापित करता है। इसमें किसी भी जानकारी को table के रूप में स्‍टोर किया जा सकता है। तथा इन्हे किसी भी क्रम में अलग किया … Continue reading MS ACCESS का परिचय

Codd के नियम)

Dr. Edgar frank Codd द्वारा सन् 19 अगस्‍त 1969 को रिलेशनल डेटाबेस का प्रिंसिपल प्रस्‍तुत किया गया था। जिसमें कहा गया था की रिलेशनल डेटाबेस सिस्‍टम एक ऐसा डेटाबेस मैनेजमेट सिस्‍टम होता है। जिसमें डाटा को एक टेबल के रूप में दिखाया जाता जिसे (Relation) कहा जाता है।

DBMS Keys

किसी भी Record की Field को Unique Value बनाने के लिए Keys का उपयोग किया जाता है, Relational Database Management System Associated Addressing का Use करता है, अर्थात यह Rows को Value के द्वारा Identify और Locate करता है।

Database Models in DBMS (डाटाबेस माॅडल्‍स)

डाटाबेस मॉडल्स डाटा के लॉजीकल रूप में डिजाइन कर के देखने का एक तरीका है, जिसके माध्‍यम से हमारे द्वारा बनाये गए जटिल से जटिल डाटा को समझने में आसनी होती है। मॉडल डाटा के विभिन्‍न भागों के मध्‍य Relationship बनाने का कार्य करता है।

Database Elements (डाटाबेस एलीमेन्‍ट्स)

डाटाबेस एलीमेन्‍ट्स किसी भी प्रकार के डाटा बेस को तैयार करने की महत्‍वपूर्ण टूल्‍स है। जिसकी सहायता से आप डाटाबेस तैयार कर सकते है।

What is Database Management System (डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्‍टम क्‍या है)

डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्‍टम या DBMS एक ऐसा जटिल सॉफ्टवेयर है जो विभिन्‍न प्रबन्‍धन क्रियाएं जैसे- निर्माण डाटाबेस में डाटा को डालना, बदलना, हटाना, तथा प्राप्‍त करना जैसे कार्य करता है। यह एक विशेष प्रोगाम सॉफ्टवेयर है। यह डाटा को अधिक मात्रा में स्‍टोर कर सकता है।