मॉनिटर क्‍या है। तथा उसके प्रकार ?

कंप्यूटर मॉनिटर एक ऐसी डिवाइस है जो आपके कंप्यूटर के साथ अगर अटैच ना की गई हो तो आप कंप्यूटर का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं क्योंकि आपको वहां पर कुछ दिखा ही नहीं दिखाई नहीं देगा। MONITOR आउटपुट डिवाइस में सबसे पहले आता है, क्योंकि इस डिवाइस का इस्तेमाल सबसे ज्यादा होता है| MONITOR सबसे MAIN और COMMON OUTPUT DEVICE होता है जो की एकदम टेलीविज़न की तरह दिखता है।

आउटपुट डिवाइस क्या है।

आउटपुट डिवाइस वो डिवाइस होती है जो कंप्यूटर के इनपुट डिवाइस द्वारा दिए गये निर्देशों को प्रोसेसिंग होने के बाद हमें उसका परिणाम देखने के लिए होता है। जैसे की हम कम्‍प्‍यूटर में कोई भी चीज बनाते है, की बोर्ड की सहायता से बनाते है या लिखते है, तो उसका परिणाम देखने के लिए हमें मानीटर की आवश्‍यक्‍ता होती है।

इनपुट डिवाइस क्या है।

कोई भी Device जो कंप्यूटर को डेटा और कंट्रोल सिंगल प्रदान करते है उन्हें Input Device कहा जाता है। Input Units का मुख्य कार्य Data और Control Signals को कंप्यूटर में इनपुट कराना है। जिसके बाद कंप्यूटर CPU के मदद से उस Data को Process करता है, और फिर हमे Output प्रदान करता है। ये भी कह सकते है कि Input Devices कंप्यूटर को दिए जाने वाले Instructions को Receive करने का काम करते है।

कम्‍प्‍यूटर मेमोरी और उसके प्रकार ?

मेमोरी का उपयोग कम्‍प्‍यूटर में किसी भी डेटा और सूचओं को स्‍टोर करने के लिए किया जाता है। जिस प्रकार हम इंसान याद रखने के लिए मस्तिष्क का उपयोग करते हैं। लेकिन कम्प्यूटर के पास अपना कोई मस्तिष्क नही होता हैं] यह डाटा और निर्देशों को याद रखने के लिए अर्थात Store करने के लिए Memory का इस्तेमाल करता हैं।

Computers Features and Advantages or Disadvantages (कम्‍प्‍यूटर की विशेषताऍं और लाभ तथा हानियॉं)

कम्‍प्‍यूटर की विशेषताऍं तो बहुत है जैसे की गणना करना, गति, सटीकता, किसी भी डाटा या इनर्फोरमेशन को प्रोसेस करना, और स्‍टोर करना, कम्‍प्‍यूटर किसी भी जटिल से जटिल टास्‍क को जल्‍द से जल्‍द पूरा कर सकती है, जिस कार्य को करने में मनुष्‍य सक्षम नही होता है। कम्‍प्‍यूटर का मूल रूप उपयोग गणना करने … Continue reading Computers Features and Advantages or Disadvantages (कम्‍प्‍यूटर की विशेषताऍं और लाभ तथा हानियॉं)

Components of Computer (कम्‍प्‍यूटर के तत्‍व)

कम्‍प्‍यूटर एक ऐसा इलेक्‍ट्रानिक डिवाइस है जो डाटा, पिक्‍चर्स, साउण्‍ड और ग्राफिक को प्रोसेस कर सकता है। यह अत्‍यधिक जटिल से जटिल समस्‍याओं को आसानी से हल कर सकता है। यह इनपुट के रूप में डाटा और इन्‍स्‍ट्रक्शन स्‍वीकार करता है। यह डाटा को स्‍टोर करता है। कम्‍प्‍यूटर यूजर के जरूरत के अनुसार डाटा को प्रोसेस करता है।

Types of Computer (कम्‍प्‍यूटर के प्रकार)

कम्‍प्‍यूटर एक ऐसा यंत्र है जिसका उपयोग आज लगभग हर क्षेत्र में हो रहा है अलग अलग क्षेत्रो में अलग अलग कार्यो के आधार पर कम्‍प्‍यूटर को बनाया जाता है। चाहे वह व्‍यक्तिगत कार्यों के लिए हो या वैज्ञानिक रिसर्च के लिए कुछ कम्‍प्‍यूटर विशेष उदे्श्‍य के लिए बनाए जाते है और उनके ही आधार पर कम्‍प्‍यूटर को तीन भागों में बाँटा गया है।

Generation of Computer (कम्‍प्यूटर की पीढियाँ)

कम्‍प्‍यूटर की पीढियाँ एक महत्‍वपूर्ण चर्चा का विषय है। दूसरे विश्‍व युद्ध के बाद कम्‍प्‍यूटरो का विकाश बहुत तेजी से हुआ और इनके आकार प्रकार में भी काफी परविर्तन हुए। यू तो हर किताब में इनके विकाश का वर्ष अलग अलग हो दर्ज हो सकता है आइए जानते है कि कम्‍प्‍यूटर की विभिन्‍न पीढियाँ कौन सी है यह कितने प्रकार की है, और इनकी क्‍या क्‍या विशेषताए है।

What is Computer (कम्‍प्‍यूटर क्‍या है।)

Computer एक इलेक्‍ट्रानिक डिवाइस है। Computer शब्‍द की उत्‍पत्ति अग्रेजी के "COMPUTE" शब्‍द से हुई है, जिसका अर्थ है गणना (Calculation) करना । अत: इससे यह स्‍पष्‍ट होता है कि कम्‍प्‍यूटर एक गणना करने वाला यंत्र है। कम्‍प्‍यूअर User द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करती है। कम्‍प्‍यूअर User द्वारा Input किए गए डेटा को Process कर के सही Result देता है।