FAT फाइल सिस्टम को समझाइए

(FAT) का पूरा नाम File Allocation Table है, इसका प्रयोग कम्प्यूटर में हार्ड डिस्क में फाइल को भण्डारण (store) करने एवं भण्डारण किये गये डाटा फाइलों को प्राप्त करने में किया जाता है. FAT वास्तव में हार्ड डिस्क को बाइट्स के गुच्छों में बाट देता है। और फिर उनमें Bit By Bit फाइलों को store करता है। इसे क्लस्टर (cluster) कहते हैं। फाइल के store होने के समय जो पहला क्लस्टर प्रयोग किया जाता है वह Root Directory से लिया जाता है.

और यदि फाइल का आकार क्लस्टर से ज्यादा हो तो भण्डारण अगले क्लस्टर की ओर बढ़ा दिया जाता है, किन्तु पिछले वाले क्लस्टर में आगे वाले क्लस्टर का पता होता है, जिससे उसे पहचाना जाता है। FAT ही इन क्लस्टर को जोड़कर एक फाइल का निर्माण करता है.

यदि FAT में Entry Zero है तो क्लस्टर free है, और इसके अलावा यदि अन्य कोई अंक है तो इसका तात्पर्य है कि वह अभी प्रयोग में है। Windows 98 से पूर्व FAT 16 प्रणाली का प्रयोग किया जाता था किन्तु अब FAT 32 प्रणाली का प्रयोग किया जाता है.

FAT12 फाइल सिस्टम

FAT को 12-बिट FAT भी कहा जाता है, एक फ्लॉपी डिस्क के लिए फ़ाइल आवंटन तालिका (FAT)। फ्लॉपी डिस्क पर फ़ाइलों का स्थान एफएटी में एक-स्तंभ तालिका में सूचीबद्ध है। क्योंकि फ्लॉपी डिस्क कॉलम में प्रत्येक प्रविष्टि की चौड़ाई 12 बिट है, इसलिए FAT को FAT12 कहा जाता है। फ्लॉपी डिस्क के लिए एक फाइल सिस्टम के रूप में, इसकी कई सीमाएँ थीं: पदानुक्रमित निर्देशिकाओं के लिए कोई समर्थन नहीं, क्लस्टर पते “केवल” 12-बिट लंबे थे (जो कि FAT को थोड़ा पेचीदा बनाने वाला कोड बना था) और डिस्क आकार के रूप में संग्रहीत किया गया था। सेक्टरों की 16-बिट गिनती, जो आकार को 32 एमबी तक सीमित करती है।

FAT16 क्या है?

फ़ाइल आवंटन तालिका जो क्लस्टर को संबोधित करने के लिए 16 बिट्स का उपयोग करती है। आमतौर पर डॉस और के साथ प्रयोग किया जाता है Windows 95 सिस्टम।

एक 16-बिट डॉस और Windows फ़ाइल सिस्टम (FAT देखें) जो हार्ड ड्राइव के आकार के आधार पर क्लस्टर आकार बदलता है। क्लस्टर का आकार 4K (127MB तक ड्राइव के लिए), 4K (255MB ड्राइव), 8K (511MB ड्राइव), 16K (1GB ड्राइव) और 32K (2GB तक ड्राइव के लिए) तक होता है। एक FAT16 विभाजन की अंतिम क्षमता 2GB है।

FAT16
FAT16

FAT32 क्या है?

Microsoft से एक डिस्क फ़ाइल आवंटन प्रणाली जो मूल FAT प्रणाली द्वारा उपयोग किए जाने वाले 32-बिट मूल्यों के बजाय FAT प्रविष्टियों के लिए 16-बिट मान का उपयोग करती है, विभाजन आकार को 2TB (टेराबाइट्स) तक सक्षम करती है। FAT32 सबसे पहले सामने आया Windows 95B और में भी पाया जाता है Windows 98 और Windows एनटी 5.0।

FAT16 की वॉल्यूम आकार सीमा को पार करने के लिए, अभी भी प्रारूप को संभालने के लिए स्मृति-विवश DOS वास्तविक-मोड कोड की अनुमति देते समय, Microsoft ने FAT की एक नई पीढ़ी को FAT32 के रूप में लागू करने का फैसला किया, जिसमें 32-बिट क्लस्टर संख्याएँ थीं, जिनमें से 28। वर्तमान में बिट्स का उपयोग किया जाता है।

सिद्धांत रूप में, इसे कुल २६४,४३५,४३ <(<२२ cl) समूहों का समर्थन करना चाहिए, जिससे २ टेराबाइट की सीमा में ड्राइव आकार की अनुमति मिलती है। हालाँकि, Microsoft की स्कैंडिस्क उपयोगिता में सीमाओं के कारण, FAT को 268,435,438 (<228) समूहों से आगे बढ़ने की अनुमति नहीं है, जब तक कि “स्कैंडिस्क” की आवश्यकता न हो, वॉल्यूम की सीमा 2 गीगाबाइट पर रखें। Windows 2000 और XP ने FAT32 विभाजन के आकार पर एक सीमा रखी, जिसे वे 32 GB पर बना सकते हैं, Microsoft का कहना है कि यह डिज़ाइन द्वारा है लेकिन यह नहीं समझाता है, और वे संस्करण क्यों हैं Windows अन्य साधनों द्वारा निर्मित बड़े FAT32 विभाजन को पढ़ने और लिखने में काफी सक्षम हैं। FAT32 के साथ पेश किया गया था Windows 95 OSR2। इसमें शामिल कई बदलावों ने इसे एक बड़ा सुधार बना दिया। हालाँकि, द्वारा partition magic सॉफ्टवेयर, आप 2TB FAT32 विभाजन बना सकते हैं और डिस्क प्रबंधन में 32 जीबी सीमा को पार कर सकते हैं।

एक FAT32 वॉल्यूम के लिए अधिकतम संभव फ़ाइल आकार 4 जीबी माइनस 1 बाइट (232-1 बाइट्स) है। अधिकांश उपयोगकर्ताओं के लिए, यह 32 की तरह FAT2005 की सबसे नागवार सीमा बन गई है, क्योंकि वीडियो कैप्चर और संपादन अनुप्रयोग आसानी से इस सीमा को पार कर सकते हैं, जैसा कि सिस्टम स्वैप फाइल कर सकता है।

32-बिट फ़ाइल आवंटन तालिका फ़ाइल सिस्टम VFAT या FAT के समान नहीं है, जो दोनों 16-बिट फ़ाइल सिस्टम हैं।

कृपया ध्यान दें कि FAT12 / 16/32 एक विभाजन की फाइल प्रणाली है, FAT नाम की एक और शब्दावली भी है। यह एफएटी फाइल सिस्टम का सिर्फ एक हिस्सा है, एफएटी के अलावा, एफएटी फाइल सिस्टम में अन्य भाग भी हैं, जो एमबीआर (मास्टर बूट रिकॉर्ड), डीबीआर (डॉस बूट रिकॉर्ड), एफडीटी (फाइल डायरेक्टरी टेबल), डेटा क्षेत्र है। NTFS फाइल सिस्टम में MBR, DBR और डेटा ज़ोन भी शामिल है। हम भविष्य में इन शब्दावली पर चर्चा करेंगे।

फाइल सिस्टम क्या है? FAT and NTFS मे क्या असमानताएं हैं। What is File System, FAT and NTFS. Difference between FAT and NTFS.


नमस्कार दोस्तों! आज हम कंप्यूटर सिस्टम मे फाइल सिस्टम के बारे मे बात करने वाले हैं। इस लेख मे हम जानेंगे कि File System क्या है तथा डाटा स्टोर करने के लिए FAT and NTFS दोनों फाइल सिस्टम किस तरह काम करते हैं, इन दोनों मे क्या असमानताएं हैं, दोनों मे बेहतर कौन है? आज कंप्यूटर कौन से File System का उपयोग अधिक करता है सभी बाते जानने के लिए इस लेख को पूरा जरूर पढे। तो आइए जानते है  फाइल सिस्टम क्या है? तथा FAT and NTFS मे क्या असमानताएं हैं।

Topics Covered  show 

File System क्या है? What is File System?

कंप्यूटर या किसी भी स्टोरेज डिवाइस जैसे HDD, SSD या Pen drive मे डाटा को स्ट्रक्चर्ड मैनर मे स्टोर करने के लिए फाइल सिस्टम का प्रयोग किया जाता है। एक फाइल सिस्टम कई प्रकार से डटा को व्यस्थित करता है, जैसे अगर बात फाइल के साइज़ की हो तो यह फाइल सिस्टम पर ही निर्भर करता है कि डिवाइस मे कितनी बड़ी फाइल स्टोर की जा सकती हैं। यदि बात फाइल नेमिग की हो तो यह भी फाइल सिस्टम पर ही निर्भर करता है कि फाइल का कितना बड़ा नाम रखा जा सकता है। ऐसी ही तमाम बातें फाइल सिस्टम पर निर्भर करती है जो हम आगे जानेंगे। कंप्यूटर मे डाटा को व्यवस्थि रूप मे स्टोर करने के लिए विंडोज़ ऑपरेटिंग सिस्टम मुख्य तौर पर FAT and NTFS फाइल सिस्टम प्रयोग करती है।

FAT क्या है? What is FAT File System?

FAT (File Allocation Table) जिसका मतलब “फ़ाइल आवंटन तालिका” है। कंप्यूटर मे फ़ाइलों को व्यवस्थित स्वरूप देने के लिए इस फाइल सिस्टम को पहली बार 1977 मे माइक्रोसॉफ्ट मे बनाया था। शुरुआत मे इसे फ्लापी डिस्क के साथ MS DOS ऑपरेटिंग सिस्टम मे इस्तेमाल किया जाता था, लेकिन धीरे धीरे तकनीकी बदलाव के कारण आज के जमाने मे यह पुराना फाइल सिस्टम है, और इसकी जगह NTFS ने ले ली है। लेकिन इसका उपयोग आज भी डिजिटल कैमरा, स्मार्ट टीवी व अन्य रिमूवबल स्टोरेज डिवाइस जैसे पेनड्राइव, SD कार्ड आदि मे किया जाता है। FAT फाइल सिस्टम का उपयोग अधिकतर स्मॉल साइज़ के स्टोरेज के लिए किया जाता है और यह उपयुक्त भी है। विंडोज़ 2000 से पहले के सभी वर्ज़न (MS DOS, 95, 98, ME) मे यह डिफ़ॉल्ट फाइल सिस्टम होता था।

FAT एक साधारण फाइल सिस्टम है। इसे मुख्य रूप से छोटे डिस्क स्पेस और सरल फाइल संरचना के लिए बनाया गया है। इसमे फाइल आवंटन तालिका तथा रूट डायरेक्टरी को एक निशित स्थान पर रखा जाता है। FAT फाइल सिस्टम मे जो भी फ़ाइलें स्टोर की जाती है FAT उनकी आवंटन तालिका (Allocation Table) को वॉल्यूम मे सबसे ऊपर रखता है जिसकी मदद से फ़ाइलों को एक्सेस किया जाता है। यह टेबल डिस्क को फॉर्मेट करते वक्त एलॉट कर दी जाती है।

डिस्क मे एक टेबल का निर्माण कलस्टर द्वारा होता है जो स्टोरेज का एक यूनिट होता है, इसका प्रयोग फाइल व फ़ोल्डर को स्टोर करने के लिए किया जाता है। डिस्क मे फाइल व डायरेक्टरी की एंट्री कलस्टर द्वारा की जाती है। FAT फाइल सिस्टम कम स्टोरेज की डिवाइस मे बेहतर प्रदर्शन करता है। माइक्रोसॉफ्ट द्वारा विभिन्न बदलावों के साथ FAT फाइल सिस्टम के कुछ वर्ज़न प्रस्तुत किए गए जो इस प्रकार हैं।

  • FAT 12: FAT12, 1980 में, DOS के पहले संस्करणों के साथ ही पेश किया गया था। इसका वॉल्यूम साइज़ 16 MB से 32 MB तक था।
  • FAT16: FAT 16 को 1984 में PC DOS 3.0 और MS-DOS 3.0 में पेश किया गया था। इसका वॉल्यूम साइज़ 8 MB से 16 GB तक था।
  • FAT32: FAT 32 तीसरा और नवीनतम फाइल सिस्टम है जिसे 1996 में माइक्रोसॉफ्ट ने MS-DOS 7.1 और Windows 95 OSR2 के लिए पेश किया। था। इसका वॉल्यूम साइज़ 32 MB से 16 TB तक है।

NTFS क्या है? What is NTFS File System?

FAT की कुछ कमियों की वजह से NTFS (New Technology File System) को माइक्रोसॉफ्ट द्वारा 1993 में Windows NT 3.1 की रिलीज के साथ पहली बार पेश किया गया, और अब यह विंडोज़ में सबसे व्यापक रूप से इस्तेमाल की जाने वाली फाइल सिस्टम है। NTFS माइक्रोसॉफ्ट के विंडोज 10, विंडोज 8, विंडोज 7, विंडोज विस्टा, विंडोज एक्सपी, विंडोज 2000 और विंडोज एनटी ऑपरेटिंग सिस्टम में इस्तेमाल होने वाला प्राथमिक फाइल सिस्टम है।

यह 256TB तक की डेटा स्टोरेज क्षमता को सपोर्ट करता है। NTFS के पास एक उन्नत डेटा संरचना, अधिक गति, बेहतर सुरक्षा और स्पेस को उपयोग करने की उच्च क्षमता है। इसके साथ ही NTFS मे डेटा रिकवरी, मल्टी-स्ट्रीमिंग, फॉल्ट टॉलरेंस, फाइल फ़ोल्डर सुरक्षा, बड़ी आकार की फाइल और नाम, यूनीकोड नाम तथा डिस्क कोटा जैसी विशेषताएं शामिल हैं।

NTFS फाइल सिस्टम की विशेषताएं

  • यह अधिक स्थिर और विश्वसनीय है
  • यह स्वतः फाइल रिकवरी का समर्थन करता है तथा हार्ड डिस्क क्रैश के मामले में जानकारी रिकॉर्ड करता है
  • इसमें हार्ड ड्राइव से डेटा पढ़ने और लिखने की उच्च गति होती है
  • व्यक्तिगत फ़ाइलों और फ़ोल्डरों पर इसकी उच्च सुरक्षा है
  • यह डुअल बूटिंग सिस्टम को सपोर्ट करता है
  • NTFS के डेटा को नेटवर्क पर साझा और एक्सेस किया जा सकता है
  • इसमें फ़ाइल एन्क्रिप्शन है, जिससे फ़ाइलों को सुरक्षा प्रदान की जा सकती है।

FAT and NTFS मे असमानताएं- Inequalities in FAT and NTFS.

FAT and NTFS दोनों मे कई असमानताएं है जो इस प्रकार है।

फॉल्ट टोलरेंस : NTFS डाटा का लॉग रखता है, डिस्क या बिजली कि विफलता के कारण आई त्रुटियों को यह रिकवर व मरम्मत कर सकता है, जबकि FAT इसके लिए आवंटन तालिका की बैकअप कॉपी रखता है जिसको कुछ त्रुटि होने पर इस्तेमाल करता है।

फाइल सुरक्षा : NTFS लोकल तथा नेटवर्क दोनों मे फाइल परमिशन कि सुविधा प्रदान करता है जिससे हम फाइल व फ़ोल्डरों पर सुरक्षा लगा सकते है, जबकि FAT केवल नेटवर्क मे शेरिंग सुरक्षा प्रदान करता है।

कंप्रेशन : NTFS फ़ाइलों व फ़ोल्डरों को कम्प्रेस करने कि सुविधा प्रदान करता है, जबकि FAT मे ऐसी कोई सुविधा उपलब्ध नहीं है।

फाइल सिस्टम कन्वर्जन : FAT32 को NTFS मे परिवर्तित किया जा सकता है लेकिन NTFS फाइल सिस्टम को FAT मे परिवर्तित नहीं किया जा सकता। ऐसा इसलिए क्योंकि NTFS FAT से अधिक कुशल है।

ओएस कॉम्पैटिबिलिटी : NTFS आज लगभग सभी ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे XP/2K3/Vista/7/8/10/Mac X/Linux मे कम्पैटिबल है, जबकि FAT की कॉम्पैटिबिलिटी DOS/95/98/ME/2000 तक सीमित है।


FAT32 and NTFS के बीच अंतर– Difference Between FAT32 and NTFS

विशेषताएंFAT32NTFS
संरचनासरलजटिल
फ़ाइल नाम में वर्णों की अधिकतम संख्या8.3255
अधिकतम फ़ाइल का साइज़4GB16TB
फाइल पर्मिशनएन्क्रिप्ट नहीं किया जा सकताएन्क्रिप्ट किया जा सकता है
सुरक्षाकेवल नेटवर्क प्रकारलोकल और नेटवर्क दोनों प्रकार
एरर रिकवरीकोई प्रावधान नहींस्वतः निवारण मौजूद है
ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ कॉम्पैटिबिलिटीविंडोज 95/98/2000/2003/XPविंडोज़ NT/2000/XP/Vista/7/8/10/ Mac X/Linux etc.
फाइल कंप्रेसनसमर्थन नहीं करतासमर्थन करता है
एक्सेस स्पीडकमअन्य फाइल सिस्टम की तुलना में अपेक्षाकृत अधिक
उपयोगकर्ता स्तर डिस्क स्पेसउपस्थित नहींउपस्थित है
परिवर्तनNTFS मे अनुमतिFAT मे अनुमति नहीं

Conclusion

दोनों फाइल सिस्टम FAT and NTFS को जानने के बाद इतना तो आप समझ ही गए होंगे कि दोनों मे बेहतर कौन है। NTFS फाइल सिस्टम नई तकनीक है जो डेटा रिकवरी, मल्टी-स्ट्रीमिंग, फॉल्ट टॉलरेंस, फाइल फ़ोल्डर सुरक्षा, बड़ी आकार की फाइल तथा डिस्क कोटा जैसी सुविधाएं प्रदान करती है। जबकि FAT अपनी संगतता के कारण अभी भी उपयोग मे है। सभी पोर्टेबल डिवाइसेस जैसे डिजिटल कैमरा, स्मार्ट टीवी, गेम कंसोल, पेन ड्राइव, SD कार्ड मे FAT32 का ही उपयोग किया जाता है। इससे यह समझ मे आता है कि हम अपनी जरूरत के अनुसार फाइल सिस्टम का चुनाव कर सकते हैं।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.